MPPSC 2021 – अधिसूचना, महत्त्वपूर्ण तिथियाँ, पाठ्यक्रम और पंजीकरण

  • utkarsh
  • Jul 07, 2021
  • 0
  • Blog Hindi, Competitive Exam,
MPPSC 2021 – अधिसूचना, महत्त्वपूर्ण तिथियाँ, पाठ्यक्रम और पंजीकरण

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग एमपीपीएससी राज्य सेवा परीक्षा प्रदेश के अंदर विभिन्न सरकारी विभागों और उप विभागों में पदों के लिए आयोजित करवाई जाती हैं। यह परीक्षा दो चरणों में संपन्न होती है। प्रारंभ परीक्षा को मुख्य रूप से एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के नाम से जाना जाता है, जो भी परीक्षार्थी प्रारंभिक परीक्षा को पास कर जाता है। उनके लिए एमपीपीएससी मुख्य परीक्षा आयोजित करवाई जाती है। 

आईएएस परीक्षा पर आधारित, एमपीपीएससी परीक्षा में जो परीक्षार्थी प्रारंभिक एग्जाम को परीक्षा करते हैं, उन्हीं को एमपीपीएससी मुख्य परीक्षा में बैठने के लिए योग्य समझा जाता है।, जो सर्वश्रेष्ठ उम्मीदवार दोनों परीक्षाओं में उतीर्ण हो जाते हैं। उनको साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है, जिसे एमपीपीएससी व्यक्तित्व परिक्षण (Personality test) कहा जाता है। तीनों चरण होने के पश्चात आपके समग्र प्रदर्शन को देखा जाता है। उसी के आधार पर आपको अंको का आवंटन किया जाता है। प्राप्त अंकों के आधार पर आपको जिला संवर्ग में विभिन्न विभागों में पदों पर नियुक्ति मिलती है।

निम्नलिखित पद एमपीपीएससी परीक्षा द्वारा भरे जाते हैं−
  • उप कलेक्टर
  • पुलिस उपाधीक्षक
  • अधीक्षक
  • वाणिज्यिक कर अधिकारी
  • जिला रजिस्ट्रार
  • मुख्य नगर अधिकारी (समूह B)
  • सहायक निदेशक: जिला रसद अधिकारी
  • सहायक निदेशक : बाल विकास परियोजना अधिकारी
  • सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (आरटीओ)

MPPSC परीक्षा 2021 : आवेदन प्रक्रिया

राज्य सेवा 2020 और राज्य वन सेवा परीक्षा 2020 के लिए संयुक्त प्रारम्भिक परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी। आवेदक केवल ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। आवेदन करते समय राज्य सेवा 2020 और राज्य वन सेवा परीक्षा 2020 अथवा दोनों विकल्पों के चयन कर सकते है। चयनित विकल्प के आधार पर ही आवेदन पर विचार किया जाएगा।

आवेदन परीक्षा शुल्क क्रेडिट/डेबिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग द्वारा किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त परीक्षा शुल्क एम.पी ऑनलाइन के अधिकृत कियोस्क के माध्यम से नगद स्वीकार किया जायेगा। परीक्षा शुल्क के लिए बैंक का ड्राफ्ट और चेक स्वीकार नही किये जायेंगे।

आवेदन करने से पूर्व ऑनलाइन आवेदन की जांच कर ले किसी भी प्रकार की त्रुटि होने पे उसमे सुधार करने हेतु 50 रुपये शुल्क देय होगा, इसके लिए आप एम.पी ऑनलाइन के अधिकृत कियोस्क का उपयोग कर सकते है। आवेदक यह ध्यान रखें कि प्रारंभिक परीक्षा के आवेदन पत्र में हुई किसी भी त्रुटि का सुधार मुख्य परीक्षा तथा साक्षात्कार के स्तर पर नहीं किया जा सकेगा अतः वह प्रारंभिक परीक्षा का आवेदन पत्र अत्यंत सावधानी पूर्वक भरे यदि फिर भी कोई त्रुटि होती है तो त्रुटि सुधार अवधि में वांछित सुधार कर ले।

एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा 2021 : योग्यता मापदंड 

  • आयु सीमा – सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 32 साल, ओबीसी वर्ग के लिए 35 साल और SC/ST उम्मीदवारों के लिए 40 साल न्यूनतम आयु सीमा निर्धारित की है।

ईडब्ल्यूएस और पीडब्लूडी उम्मीदवारों के लिए उम्र में छूट केंद्र सरकार के नियमों के आधार पर दी जाती है

  • शैक्षणिक योग्यता – देश या राज्य के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक
  • क्षेत्रीय योग्यता – देश का कोई भी उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए पात्र है यदि वह मध्य प्रदेश राज्य से संबंधित एक लिखित परीक्षा पास करता हो।

शारीरिक मापदंड:- गृह (पुलिस), वाणिज्यिक कर (आबकारी) विभाग, जेल विभाग तथा परिवहन विभाग में वर्दीधारी पदों हेतु निम्नानुसार शारीरिक मापदंड निर्धारित है:- 

लिंगऊंचाई से.मी मेंसीना बगैर फुलाए से.मी मेंसीना पूर्णतः फुलाने पर से.मी में
पुरुष1688489
महिला155सीने माप अपेक्षित नहीसीने का माप अपेक्षित नही

एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा 2021: संशोधित तिथियाँ

देशभर में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के चलते एमपीपीएससी आयोग ने 2020 में होने वाली प्रारंभिक परीक्षा को टाल दिया है। इससे पहले भी एमपीपीएससी ने प्रारंभिक परीक्षा 2020 को एक महीने के लिए टाल दिया था। एमपीपीएससी 2020 प्रारंभिक परीक्षा का 20 जून, 2021 को होना सुनिश्चित था। लेकिन अब इस तिथि को बदलकर 25 जुलाई, 2021 कर दिया गया है। इसके साथ ही एमपीपीएससी राज्य वन आयोग प्रारंभिक परीक्षा-2021 भी 25 जुलाई को होना तय है।

एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा 25 जुलाई, 2021 को आयोजित होगी, इसलिए सभी उम्मीदवार जो एमपीपीएससी लोक सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2020 की परीक्षा के लिए अपने प्रवेश-पत्र मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की आधिकारिक वेबसाइट से 12 जुलाई से डाउनलोड कर सकते हैं।

एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा : एडमिट कार्ड 

एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के एडमिट कार्ड 12 जुलाई 2021 से एमपीपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड किये जा सकेंगे। 

  • सभी परीक्षार्थियों को राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा या मुख्य परीक्षा में तभी प्रवेश दिया जाएगा जब वह आयोग द्वारा जारी किया गया प्रवेश-पत्र अपने साथ परीक्षा केंद्र पर लेकर जाएंगे।
  • आयोग द्वारा जारी प्रवेश-पत्र में उल्लेखित फोटो अभ्यर्थी के पहचान पत्र में दी गयी फोटो से मेल खानी चाइए। 
  • किसी भी अभ्यर्थी को प्रवेश-पत्र व्यक्तिगत रूप से नहीं भेजे जाएंगे। अभ्यर्थियों को परीक्षा के 10 दिन पूर्व से परीक्षा शहर की जानकारी एसएमएस/ ई-मेल द्वारा तथा परीक्षा हेतु प्रवेश-पत्र 12 जुलाई से www.mponline.gov.in, www.mppsc.nic.in तथा www.mppsc.com पर डाउनलोड हेतु उपलब्ध रहेंगे। आवेदकों को वेबसाइट से ही परीक्षा के प्रवेश-पत्र प्राप्त करने होंगे। इस संबंध में किया गया कोई भी पत्राचार मान्य नहीं होगा। 
  • प्रवेश पत्र एमपीपीएस ऑनलाइन के अधिकृत कियोस्क के माध्यम से डाउनलोड करने पर 5 रुपये पोर्टल शुल्क देय होगा।
  • अभ्यर्थी कृपया ध्यान रखें कि परीक्षा केंद्र पर प्रवेश-पत्र के साथ निम्नलिखित मान्य मूल फोटोयुक्त पहचान प्रमाण-पत्र में से कोई एक प्रस्तुत करने एवं उसमें आवेदक की पहचान की पुष्टि होने के पश्चात ही परीक्षा देने की अनुमति मिलेगी। 
  • पहचान-पत्र के तौर पर आप आधार कार्ड, मतदाता पहचान-पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, शासकीय सेवक के मामले में नियुक्त द्वारा जारी परिचय-पत्र, बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस की फोटो युक्त पासबुक, शैक्षणिक संस्थान द्वारा अधिकृत अधिकतम 3 वर्ष पूर्व तक जारी परिचय-पत्र, राजपत्रित अधिकारी द्वारा प्रमाणित नवीनतम फोटो परिचय-पत्र आदि।

MPPSC प्रारंभिक परीक्षा : पाठ्यक्रम

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग ने प्रारंभिक परीक्षा को दो भागों में बाँटा है। सभी उम्मीदवारों को प्रारंभिक परीक्षा के दोनों प्रश्न-पत्रों में अच्छा प्रदर्शन करना होगा तभी वे प्रारंभिक परीक्षा को उत्तीर्ण करने के पात्र होंगे।

प्रथम प्रश्न-पत्र − सामान्य अध्ययन 

सामान्य विज्ञान विज्ञान और पर्यावरण पर आधारित सामान्य प्रश्न पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और जलवायु परिवर्तन जैसा कि एक शिक्षित व्यक्ति से अपेक्षित होता है सामान्य विज्ञान की समझ और हर दिन का अवलोकन और अनुभव व्यक्ति को होना चाहिए।

  • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्त्व की वर्तमान घटनाएँ
  • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्त्वपूर्ण घटनाओं का परीक्षण किया जाएगा

भारत और स्वतंत्र भारत का इतिहास

इतिहास के सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक पहलुओं पर प्रश्न पूछे जाएंगे साथ ही राष्ट्रीय आंदोलन और स्वतंत्र भारत के विकास से संबंधित भी प्रश्न पूछे जाएंगे।

भारत का भूगोल

भारत के भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे इसके साथ भारतीय कृषि और प्राकृतिक संसाधन के प्रश्न भी शामिल होंगे भारत की जनगणना और जनसांख्यिकी पर भी प्रश्न पूछे जाएंगे।

  • दुनिया की  सामान्य भौगोलिक जागरूकता

भारतीय राजव्यवस्था और अर्थव्यवस्था

देश की राजनीतिक व्यवस्था और संविधान पंचायती राज, सामाजिक व्यवस्था, सतत आर्थिक विकास, चुनाव, राजनीतिक दल, औद्योगिक विकास, विदेशी, व्यापार और आर्थिक और वित्तीय संस्थान

खेल कूद

महत्त्वपूर्ण खेल और खेल प्रतियोगिताएँ पुरस्कार मध्य प्रदेश भारत, एशिया, और दुनिया के महत्त्वपूर्ण खेल संस्थान

मध्य प्रदेश की संस्कृति, भूगोल और इतिहास

पर्वत, नदियाँ, जलवायु, वनस्पति, जीव और खनिजों के विकास से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे। मध्य प्रदेश के प्रमुख राजवंश और इनका मध्य प्रदेश की संस्कृति और इतिहास में योगदान, आदिवासी, कला, वास्तुकला, ललित कला और ऐतिहासिक व्यक्तित्व से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

मध्य प्रदेश की राज्य व्यवस्था और अर्थव्यवस्था

मध्य प्रदेश की राजनीतिक व्यवस्था राजनीतिक दल चुनाव, पंचायती राज, सामाजिक व्यवस्था और सतत आर्थिक विकास से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे। इसके अलावा उद्योग, योजनाएं, आर्थिक योजनाएं, व्यापार, जनसांख्यिकी और मध्य प्रदेश की जनगणना से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

सूचना और संचार प्रौद्योगिकी

वेबसाइट, सर्च इंजन, ईमेल, वीडियो मेल, चैटिंग, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, हैकिंग, ट्रैकिंग, वायरस और साइबर अपराध की विशेषताएं उपयोग और शब्दावली से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

अनुसूचित जाति और जनजाति अत्याचार निवारण 1989 नंबर 33 नागरिक अधिकार संरक्षण अधिनियम 1955 नंबर 22

मानव अधिकार संरक्षण अधिनियम 1993

द्वितीय प्रश्न-पत्र− सामान्य योग्यता परीक्षण

  • समझ
  • संचार कौशल और संवाद कौशल
  • तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता
  • निर्णय लेना और समाचार सुलझाना
  • सामान्य मानसिक परीक्षण
  • सामान्य अंकगणित ( अंक और उनके आपस मे सम्बन्ध, परिमाण का क्रम) डेटा व्याख्या( चार्ट,ग्राफ,सारिणी,डेटा पर्याप्तता- दसवीं कक्षा के स्तर का) 
  • हिंदी भाषा की समझ (कक्षा 10 स्तर की)

नोट- दसवीं कक्षा स्तर की हिंदी समझ के प्रश्न गद्यांश के माध्यम से पूछे जाएंगे जिसमें हिंदी प्रश्नों का हल बिना अंग्रेजी में अनुवाद किए ही करना होगा।

MPPSC – मैन्स 2021 – परीक्षा पैटर्न 

परीक्षा का पाठ्यक्रम बहुत विशाल है। और इसको पूरा करने के लिए उपलब्ध अध्ययन सामग्री भी भरपूर मात्रा में उपलब्ध है। एक सीमित समय में हम इतना विशाल पाठ्यक्रम पूरा नहीं कर सकते हैं। इसके लिए हमको एमपीपीएससी परीक्षा के लिए कुछ सीमित और बेहतरीन पुस्तकें ही पड़ने पर ध्यान देना चाहिए।

एमपीपीएससी परीक्षा के अधिकांश उम्मीदवार अपनी परीक्षा की तैयारी एनसीईआरटी की किताबों से करते हैं। और उसके आगे के अध्ययन के लिए संदर्भ किताबों की मदद लेते हैं। यह किताबें मानक स्तर की होती है, जो उम्मीदवार को उनका लक्ष्य प्राप्त करने के लिए मदद करती है।

एमपीपीएससी परीक्षा के लिए सबसे अच्छी किताबों के बारे में टिप्पणी करना आकर्षक लगता है। लेकिन किसी भी उम्मीदवार के विषय में रुचि और अध्ययन से शैली के हिसाब से एक उम्मीदवार दूसरे उम्मीदवार से भिन्न होता है। वैसे भी इस लेख में विषय विशेषज्ञ और परीक्षा टॉपर्स द्वारा सुनाई गई महत्त्वपूर्ण किताबों के बारे में बताया गया है।

एमपीपीएससी परीक्षा के विभिन्न चरणों के लिए ऑनलाइन किताबे देखना बहुत महत्त्वपूर्ण है। क्योंकि एमपीपीएससी प्रीलिम्स परीक्षा वैकल्पिक प्रश्नों पर आधारित होती है। जहां आपको प्रत्येक प्रश्न के चार विकल्प मिलते हैं। जिसमें से एक विकल्प को चुनकर आपको परीक्षा देनी होती है। वहीं दूसरी ओर मुख्य परीक्षा पूर्णता है लेखन कला पर आधारित होती है, जहां आपको अच्छी गुणवत्ता के साथ लंबे-लंबे प्रश्नों के उत्तर लिखने होते हैं। वहां आप कोई भी गलती करने की गलती नहीं करना चाहेंगे इसलिए आपको ऑनलाइन किताबें देखना बहुत आवश्यक है।

जैसा कि हम पहले बता चुके हैं एमपीपीएससी प्रीलिम्स और मेंस परीक्षा एक दूसरे से पूरी तरह अलग होती है। इसलिए इन दोनों परीक्षाओं की तैयारी भी एक दूसरे से अलग रणनीति बनाकर करनी चाहिए। ठीक उसी तरह दोनों परीक्षाओं के लिए किताबें भी अलग-अलग होंगी जो दोनों परीक्षाओं के हिसाब से उपयुक्त होगी।

एमपीएससी 2020 की परीक्षा की सभी जानकारी को हमने यहां बता दिया है। यह सभी को समझ लेना चाहिए की एमपीपीएससी प्रीलिम्स वैकल्पिक प्रश्नों पर आधारित होती है, जबकि मेंस परीक्षा वर्णनात्मक होती है।

MPPSC प्रारम्भिक परीक्षा 2021 : प्रारूप

एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा 2020 में बहुविकल्पीय प्रश्नों के दो पेपर शामिल होंगे:-

प्रत्येक पेपर नीचे दिए गई योजना के आधार पर सेट किए जाएंगे

पेपर 1 सामान्य अध्ययन – 2 घण्टे –  200 अंक

पेपर 2 सामान्य योग्यता परीक्षण – 2 घण्टे – 200 अंक

प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपरों में बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे हर एक प्रश्न के चार विकल्प होंगे ए बी सी और डी प्रत्येक परीक्षार्थी को सही विकल्प पर निशान लगाना है।

प्रत्येक पेपर 200 अंक का होगा जिसमें 100 प्रश्न शामिल होंगे, तथा प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होगा प्रत्येक प्रश्न पत्र के लिए 2 घंटे का समय दिया जाएगा, और दोनों पेपर हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में उपलब्ध होंगे।

MPPSC मुख्य परीक्षा 2021 : प्रारूप

एमपीपीएससी मुख्य परीक्षा लिखित मूल्यांकन पर आधारित होती है तथा इसमें 7 पेपर शामिल होते हैं।

  1. अनिवार्य पेपर्स

पेपर 1 सामान्य अध्ययन – 3 घण्टे – 300 अंक

पेपर 2 सामान्य अध्ययन – 3 घण्टे – 300 अंक

पेपर 3 सामान्य हिंदी – 3 घण्टे – 300 अंक

कुछ विषय वैकल्पिक होते हैं। एमपीपीएससी परीक्षा द्वारा जारी की गई सूची में से आप कोई भी वैकल्पिक विषय चुन सकते हैं।

पेपर 4 पेपर 5 पेपर 6 और पेपर 7 सभी उम्मीदवारों के लिए वैकल्पिक होते हैं। दी गई सूची में से प्रत्येक उम्मीदवार को दो वैकल्पिक विषय चुनने होते हैं। प्रत्येक विषय के दो पेपर होते हैं हर एक पेपर 3 घंटे का और प्रत्येक पेपर का मूल्यांकन 300 अंक होता है।

एमपीपीएससी की मुख्य परीक्षा के लिए वैकल्पिक विषय को चुनने के लिए निम्नलिखित सूची जारी की गई है। नीचे दिए गए सभी वैकल्पिक विषय उनके कोड के हिसाब से उपलब्ध करवाए गए हैं:-

  1. कृषि
  2. पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान
  3. जीव विज्ञान
  4. वनस्पति विज्ञान
  5. रसायन विज्ञान
  6. भौतिक विज्ञान
  7. गणित
  8. सांख्यिकी
  9. सिविल इंजीनियरिंग
  10. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  11. मेकैनिकल इंजिनीरिंग
  12. वाणिज्य और लेखा
  13. अर्थव्यवस्था
  14. इतिहास
  15. भूगोल
  16. भूविज्ञान
  17. राजनीति विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय सम्बन्ध
  18. लोक प्रशासन
  19. समाजशास्त्र
  20. अपराध विज्ञान और फोरेंसिक विज्ञान
  21. मनोविज्ञान
  22. दर्शनशास्त्र
  23. कानून
  24. हिंदी साहित्य
  25. अंग्रेजी साहित्य
  26. संस्कृत साहित्य
  27. उर्दू साहित्य
  28. नर विज्ञान
  29. सैन्य विज्ञान

हालांकि उम्मीदवारों को छह विषयों के संयोजन लेने की अनुमति नहीं है। इसके पीछे का यह विचार है कि उम्मीदवारों को विविध विषयों में से किन्ही दो अलग विषयों को चुनना होगा तथा उन विषयों में अपनी योग्यता साबित करनी होगी।

  • राजनीति विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंध और लोक प्रशासन
  • नर विज्ञान और समाजशास्त्र
  • कृषि और पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान
  • सिविल इंजीनियरिंग इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग फॉर मैकेनिकल इंजीनियरिंग में से कोई एक विषय
  • हिंदी संस्कृत और उर्दू साहित्य में से कोई एक साहित्य एक से अधिक सुनने की अनुमति नहीं है।

एमपीपीएससी मुख्य परीक्षा के लिए सामान्य दिशा निर्देश:-

  • प्रत्येक प्रश्नपत्र 3 घंटे का होगा।
  • एमपीपीएससी मुख्य परीक्षा के पेपर वर्णनात्मक प्रकार के होंगे।
  • प्रश्न पत्र दोनों भाषाओं हिंदी और इंग्लिश में उपलब्ध करवाए जाएंगे डिजाइन वाले प्रश्न अंग्रेजी भाषा में ही होंगे।
  • उम्मीदवार मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन करता है तब उसको प्रश्न पत्र की भाषा को बदलने का विकल्प दिया जाता है
  • एमपीपीएससी मुख्य परीक्षा के सभी उम्मीदवारों को प्रत्येक प्रश्न पत्र के प्रश्न क्रमांक 1 जिसमें 20 लघु प्रश्न शामिल होते हैं को करना अनिवार्य होगा

MPPSC – प्रारम्भिक और मुख्य परीक्षा की तैयारी

  • एमपीपीएससी परीक्षा की अपेक्षाएं बहुत अधिक है इसकी तैयारी के लिए आपको कम से कम 1 वर्ष का समय लगता है। इसके लिए आपको 1 वर्ष तक किसी भी अन्य जगह पर अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहिए।
  • एमपीपीएससी परीक्षा के लिए सुझाव गई सभी महत्त्वपूर्ण किताबों से अगर आप नोट्स बनाते हैं, तो यह आपको लंबे समय तक किसी भी विषय के कॉन्सेप्ट को समझने में मदद करेगा।
  • मालन की ज्यादातर संदर्भ किताबें नोट्स के प्रारूप में ही लिखी गई है। जिससे सभी उम्मीदवारों को सभी विषय की अवधारणा को समझने में मदद मिलती है।

एमपीपीएससी परीक्षा 2020 में सम्मिलित होने वाले सभी उम्मीदवारों को उत्कर्ष इंस्टिट्यूट की तरफ से शुभकामनाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.