REET के लिए पर्यावरण अध्ययन के विषयों को कवर करने का सबसे अच्छा तरीका

  • utkarsh
  • Dec 15, 2020
  • 0
  • Blog Hindi, REET,
REET के लिए पर्यावरण अध्ययन के विषयों को कवर करने का सबसे अच्छा तरीका

राजस्थान में हर साल हजारों आकांक्षी REET परीक्षा के लिए तैयारी करते हैं, उन सब परीक्षार्थियों का उद्देश्य एक ही है – शिक्षण के पेशे में प्रवेश करना। इस परीक्षा का कठिनाई स्तर मध्यम है और पाठ्यक्रम को इसके आयोजक, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा अच्छी तरह से वर्णित किया गया है। इसके बावजूद, बहुत से छात्र अभी भी REET परीक्षा पेपर पैटर्न के विभिन्न वर्गों के लिए सही तैयारी करने की योजना खोजने के लिए संघर्ष करते हैं।

यह आर्टिकल उन लोगों की मदद करेगा जो REET की तैयारी के दौरान पर्यावरण अध्ययन को लेकर संघर्ष कर रहे हैं।

REET की तैयारी के दौरान पर्यावरण अध्ययन के आवश्यक विषय-वस्तू को समझने के लिए पाठ्यक्रम को ठीक से जानना और पेपर में प्रत्येक विषय के अंक वितरण को जानना महत्वपूर्ण है।

पर्यावरण अध्ययन केवल REET के स्तर I में शामिल है और इसमें मार्क वितरण इस प्रकार है:

स्तर 1 REET परीक्षा पेपर पैटर्न (प्राथमिक कक्षाओं के लिए – कक्षा 1 से 5 तक)
विषयपेपर में पूछे गए प्रश्नों की संख्याअंक वितरण
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र3030
भाषा I (हिंदी, उर्दू, अंग्रेजी, संस्कृत, पंजाबी सिंधी, और गुजराती)3030
भाषा II (सिंधी, हिंदी, पंजाबी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू और गुजराती)3030
गणित3030
पर्यावरण अध्ययन3030
कुल150150

पर्यावरण अध्ययन के पाठ्यक्रम को अच्छी तरह से कंठस्थ करने के लिए ये जरुरी है की आप पर्यावरण अध्ययन के सभी मूल सिद्धांतों को स्पष्ट रूप से समझें। इस तरह से स्पष्ट ज्ञान आपको सभी विषयों को अच्छी तरह से समझने में मदद करेगा। एक बार जब आप इसकी मूल बातें समझ लेंगें तो पर्यावरण अध्ययन आपको बहुत आसान विषय लगेगा। 

आइए हम पर्यावरण अध्ययन की महत्वपूर्ण विषय-वस्तू देखें जो REET पाठ्यक्रम में शामिल हैं।

REET में पर्यावरण अध्ययन के लिए महत्वपूर्ण विषय:
विषयमहत्वपूर्ण विषय-वस्तु
पर्यावरण अध्ययन –प्रश्नों की संख्या: 30   मुख्य विषय-वस्तू (15 प्रश्न)
–          खाना
–          पानी
–          आश्रय
–          यात्रा
–          परिवार और दोस्त: रिश्ते, काम और खेल, जानवर, पौधे
 
·         शैक्षणिक मुद्दे (15 प्रश्न)
–          पर्यावरण अध्ययन का महत्व, एकीकृत पर्यावरण अध्ययन
–          पर्यावरण अध्ययन की अवधारणा और गुंजाइश
–          पर्यावरण अध्ययन और पर्यावरण शिक्षा
–          सीखने के सिद्धांत
–          प्रस्तुत अवधारणाओं के दृष्टिकोण
–          विज्ञान और सामाजिक विज्ञान से संबंध
–          एक्टिविटी
–          चर्चा
–          प्रयोग / व्यवहारिक कार्य
–          CCE
–          समस्याएं
–          शिक्षण सामग्री / संसाधन

पर्यावरण अध्ययन की तैयारी करने के लिए आवश्यक एक और बात यह है कि आप केवल विश्वसनीय संसाधनों से अध्ययन करें। अपनी तैयारी शुरू करने से पहले, REET परीक्षाओं के लिए पर्यावरण अध्ययन की सही विषय सामग्री संग्रह करें। इसके लिए अपने साथियों या अपने शिक्षकों की मदद लें।

यह आपके लिए बहुत आसान होगा यदि आप REET तैयारी के लिए आप किसी कोचिंग संस्थान में दाखिला ले रहे हैं, क्योंकि ऐसे संस्थान आमतौर पर आपको नोट्स के साथ-साथ सभी अध्ययन सामग्री, या पुस्तकों की एक सूची उपलब्ध करवाते हैं।

REET की तैयारी के लिए पर्यावरण अध्ययन को मजबूत करने के लिए कुछ सुझाव:

• अपने पाठ्यक्रम का सख्ती से पालन करें। कुछ भी ऐसा पढ़ने की आवश्यकता नहीं है जो आपके पाठ्यक्रम का हिस्सा नहीं है। लेकिन जो भी पढ़ें उसका अच्छी तरह से अध्ययन करें। अपने पाठ्यक्रम के प्रत्येक विषय को पूरी तरह से तैयार करने में कोई कसर नहीं छोड़ें। 

• अपना समय ढंग से प्रबंधित करें। अपने पाठ्यक्रम के पर्यावरण अध्ययन भाग को समाप्त करने के लिए अपने आप को एक लक्ष्य दें। उन विषयों को अधिक समय दें जो आपको कठिन लगते हैं, और उन विषयों पर जितना हो सके कम से कम समय बिताने की कोशिश करें जिन्हें आप आसानी से समझ पाते हैं।

• हमेशा पर्यावरण अध्ययन के लिए कॉम्पैक्ट नोट्स और फ्लैश कार्ड बनाएं, ताकि जब इसे दोहराने का समय हो, तो आपको फिर से पूरी पाठ्यपुस्तकों को ना पढ़ना पड़े। इससे आपका केवल समय ही नहीं बचेगा, बल्कि इससे तथ्यों को याद करना आसान हो जायेगा। 

• हर विषय के लिए मॉक टेस्ट दें और पर्यावरण अध्ययन के लिए ख़ास तौर पर मॉक टेस्ट दें।  इस तरह से हर विषय के लिए अपनी तैयारी का मूल्याङ्कन करें। अपने कमजोर बिंदुओं का पता लगाएं और उन विषयों का अच्छी तरह से फिर से अध्ययन करें। यह आपको  अपनी सटीकता बढ़ाने में मदद करेगा।

• REET के पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों को हल करने का प्रयास करें, इस पर ध्यान दें कि कौन से विषय आपका अधिक समय ले रहे हैं। प्रश्न पत्र में भाग लेने के अनुक्रम पर और अपने समय प्रबंधन पर काम करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.