करेंट अफेयर्स : 12 जुलाई, 2021

  • utkarsh
  • Jul 12, 2021
  • 0
  • Blog Hindi, Current Affairs,
करेंट अफेयर्स : 12 जुलाई, 2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वियतनाम के प्रधानमंत्री फाम मिन्ह चिन्ह से वार्ता की 

पीएम मोदी ने वियतनाम के वर्तमान प्रधानमंत्री फाम मिन्ह चिन्ह को प्रधानमंत्री पद पर नियुक्त होने की बधाई दी तथा आपसी साझेदारी से दोनों देशों को सहयोग के साथ क्षेत्रीय स्थिरता एवं विकास की दिशा में आगे बढ़ने की बात पर चर्चा की। 

मुख्य बिंदु 

  • इस वार्ता के दौरान दोनों नेताओं के मध्य हिंद- प्रशांत क्षेत्र, राजनैतिक मुद्दों पर चर्चा तथा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आपसी सहयोग सहमति आदि पर चर्चा हुई। 
  • कोविड-19 की लड़ाई में एकजुट होकर कार्य करने की दिशा में भी चर्चा हुई।
  • साल 2022 में भारत और वियतनाम कूटनीतिक वर्षगांठ के अवसर पर दोनों नेताओं ने इसे हर्ष और उल्लास के साथ मनाने का फैसला किया तथा पीएम मोदी ने फाम मिन्ह चिन्ह को भारत आने का निमंत्रण भी दिया। 

भारत और वियतनाम संबंध 

भारत और वियतनाम संबंध दोनों देशों के स्वतंत्र होने के पश्चात से ही मैत्रीपूर्ण रहे हैं तथा आपसी सहयोग एवं साझेदारी इन‌ दोनों के मध्य पारस्परिक रूप से देखी गई है। वियतनाम की राजधानी हनोई में भारत ने साल 1956 में वाणिज्यिक दूतावास की स्थापना की थी। 

भारतीय नौसेना ने नेवल बेस के आसपास ड्रोन उड़ाने पर प्रतिबंध लगाया।

भारतीय नौसेना ने अनाधिकृत ड्रोन की उड़ान को नेवल बेस के आसपास प्रतिबंधित कर दिया है। नियम उल्लंघन करने वालों पर कानूनी धाराओं के तहत कारवाई की जाएगी। 

मुख्य बिंदु 

  • भारतीय नौसेना के मुताबिक कोई भी अनाधिकृत हवाई यंत्र या ड्रोन नेवल बेस के 3 किलोमीटर क्षेत्र में ईर्द-गिर्द घूमता नज़र आया तो उसे जब्त अथवा नष्ट कर दिया जाएगा।
  • इंडियन नेवी के इस आदेश के बाद ड्रोन तथा UAVs पर रोक लगा दी गई है।
  • इस फैसले की आवश्यकता तब महसूस हुई जब जम्मू और कश्मीर में ड्रोन द्वारा हमला हुआ।
  • इस आदेश के बाद यदि कोई ड्रोन नज़र में आया तो उसपर भारतीय नौसेना कारवाई करेंगी। इसलिए इंडियन नेवी ने नियमों का सख्ती से पालन करने को कहा है। 
  • आरोपी के विरुद्ध आईपीसी की धारा 21, 21 A, 287, 336,337 और 338 के आधार पर कारवाई की जाएगी। 
  • भारतीय नौसेना द्वारा देश की सुरक्षा की दिशा में यह फैसला लिया गया है। 

भारतीय नौसेना (INDIAN NAVY) 

भारतीय नौसेना भारतीय सेनाओं में से एक है। यह भारतीय सेना की जल सेना की श्रेणी में आती है। इसकी स्थापना सन् 1612 में ईस्ट इंडिया कंपनी की युद्ध सेना के रूप में उभर कर सामने आई तथा उस समय इसका नामकरण ‘ इंडियन मेरिन’ नाम से किया गया था। 8 सितंबर, 1934 को भारतीय विधान परिषद् द्वारा भारतीय नौसेना अनुशासन अधिनियम गठित किया गया जिसके फलस्वरूप भारतीय नौसेना का निर्माण हुआ। यह समुद्री सुरक्षा को सुनिश्चित कर भारतीय जल‌ संबंधी मुद्दों में अपना सहयोग देती है। 

12 जुलाई : विश्व मलाला दिवस 

यूनाइटेड नेशन द्वारा मलाला यूसुफजई के जन्मदिन के अवसर पर साल 2012 में विश्व मलाला दिवस की घोषणा की गई थी। उनकी लोकप्रियता महिला युवा कार्यकर्ता के रूप में है।

मुख्य बिंदु

  • संयुक्त राष्ट्र द्वारा मलाला यूसुफजई की महिलाओं के प्रति दृष्टिकोण की महत्ता तथा मलाला की हिम्मत और जज्बे को देखते हुए इस दिवस को संगठित किया गया।
  • मलाला को तालीबान संगठन द्वारा 9 अक्टूबर, 2012 में गोली लगी थी परंतु मलाला पुनः स्वस्थ होकर महिलाओं के अधिकारों के प्रति आवाज उठाने लगी। 
  • मलाला ने महिलाओं के शिक्षा अधिकारों के तहत मलाला फाउंडेशन का गठन किया है।
  • मलाला ने समाज में महिलाओं के शिक्षा, सुरक्षा एवं सामाजिक स्तर में सुधार पर जोर दिया है। 
  • मलाला के विचारधारा को विश्वभर की सराहना प्राप्त हुई। 
  • कम उम्र में एक महिला सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में उभरने के कारण उन्हें प्रतिष्ठित पुरस्कार जैसे अंतराष्ट्रीय शांति पुरस्कार एवं अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार, पाकिस्तान राष्ट्रीय युवा शांति पुरस्कार आदि से सम्मानित किया गया। 

मलाला यूसुफजई 

मलाला का जन्म पाकिस्तान के मिंगोरा शहर में 12 जुलाई, 1997 में हुआ था। 13 वर्ष की आयु में तहरीक-ए-तालिबान के विचारधारा के विरुद्ध बीबीसी के ब्लोगिंग में महिलाओं के शैक्षिक विचार को रखने के बाद वह पाकिस्तान में चर्चित हो गई एवं तालीबान के नजरों में आ गई। इनके सुविचारों की सराहना विश्व भर में हुई परंतु तालीबान के वार का इन्हें शिकार होना पड़ा। 9अक्टूबर, 2012 द्वारा उन्हें गोली लगी परंतु वह पुनः स्वस्थ होकर उठ खड़ी हुई। उनकी इस वीरता के लिए उन्हें कई प्रमुख पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। 

एश्ले बार्टी ने हासिल किया विंबलडन टेनिस ग्रैंडस्लैम खिताब 

25 वर्षीय एश्ले बार्टी ने विंबलडन टेनिस ग्रैंडस्लैम खिताब हासिल किया एवं 40 वर्षो बाद इस खिताब को हासिल करने वाली पहली ऑस्ट्रेलियन महिला बनीं।

मुख्य बिंदु 

  • एश्ले ने कैरिलोना पल्सिकोवा को हराकर यह खिताब जीता।
  • एश्ले बार्टी ने अपने खेल करियर में दि्वतीय बार ग्रैंडस्लैम खिताब हासिल किया है।
  • इससे पूर्व एश्ले ने 2019 में फ्रेंच ओपन प्रतियोगिता में खिताब प्राप्त किया था।
  • इवोने गूलालंगो ने 1980 में आल इंडिया क्लब में खिताब हासिल कर इतिहास रचा था एवं 40 साल बाद एश्ले बार्टी ने यह खिताब अपने नाम कर लिया तथा यह खिताब जीतने वाली पहली ऑस्ट्रेलियन‌ महिला बनीं।

आयुर्वेद के दाता डॉ.पी के वरियर का 100 साल की आयु में हुआ स्वर्गवास  

आयुर्वेद के दाता डॉ. पी के वरियर का 100 साल की आयु में स्वर्गवास हो गया है। डॉ पी के वरियर केरल की आयुर्वेद वैध शाला ट्रस्ट के मैनेजर भी थे। 

मुख्य बिंदु 

  • सूत्रों के मुताबिक डॉ.पी के वरियर ने शनिवार दोपहर को अंतिम श्वास ली तथा इस दुनिया को अलविदा कहकर चले गए।
  • हाल ही में उनका 100वाँ जन्मदिन 5 जून को मनाया गया था।
  • आयुर्वेद के आधुनिकीकरण में इनका अमूल्य योगदान रहा है। इनके दिशा निर्देश से आयुर्वेद की पहुंच को घर-घर तक सुनिश्चित किया गया है। 
  • इन्होंने अपने पूरे 75 साल के चिकित्सा काल में आयुर्वेद के आधार पर हजारों लोगों को रोगमुक्त किया है। 
  • यह विश्व भर में प्रसिद्ध आयुर्वेद विशेषज्ञ थे तथा दुनिया के कोने-कोने से लोग इनसे इलाज हेतु केरल के कोट्टाकल में उपस्थित आयुर्वेद वैद्यशाला में आते थे। 
  • डॉ.पी के वरियर ने आयुर्वेद की दिशा में कई वैज्ञानिक शोध को अंजाम दिया तथा उसके आधार पर आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण किया। 

डॉ. पी के वरियर 

डॉ पी के वरियर का जन्म केरल राज्य के मलाबार शहर में 5 जून, 1921 में हुआ था। उनका पूरा नाम पन्नियमपल्ली कृष्णनकुट्टी वरियर था। डॉ. पी के वरियर ने कोट्टाकल गाँव के आर्यन मेडिकल स्कूल से आयुर्वेदिक शिक्षा प्राप्त की थी। डॉ. पी के वरियर भारत छोड़ो आंदोलन में भी सक्रिय रूप से भागीदार बनें। आयुर्वेद में उनके अमूल्य योगदान हेतु उन्हें 1999 में पद्मश्री तथा 2010 में पद्मभूषण से सम्मानित किया गया। 

केंद्र ने ओडिशा के जल जीवन अभियान हेतु 3323 करोड़ रुपए वितरित किए 

केंद्र ने जल जीवन अभियान हेतु ओडिशा को 3,323  करोड़ रुपये वितरित किए। शनिवार को केंद्रीय जल मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने यह फैसला लिया। 

मुख्य बिंदु 

  • शनिवार को केंद्रीय जल मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने ओडिशा जल जीवन अभियान हेतु 3,323 करोड़ रुपये वितरित किए। इसकी यह लागत पिछले वित्त वर्ष से 4 गुना अधिक है। 
  • जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने इस लागत को स्वीकृति प्रदान करते हुए वर्ष 2024 तक संपूर्ण राज्य के प्रत्येक घर में नल के पानी की सुविधा को सुनिश्चित किया है।
  • साल 2019 में अभियान के आरंभ में देश के 18.93 करोड़ ग्रामीण निवास में से सिर्फ 3.93 करोड़ में ही नल सुविधा की पहुंच को सुनिश्चित किया गया। 
  • मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि कोविड 19 की शुरुआत से एवं पिछले 22 महीनों में जल जीवन अभियान को गति मिली है तथा इस काल में 4 हजार करोड़ ग्रामीण निवास में नल के पानी की सुविधा को उपलब्ध कराया गया है। 
  • गोवा, तेलंगाना, अंडमान निकोबार द्वीप समूह और पुडुचेरी ने इस अभियान को काफी हद तक प्राप्त कर लिया है।

जल जीवन अभियान 

यह केंद्र सरकार द्वारा चलाया जा रहा देश को जल सुविधा की दिशा में एक अभियान है। इसके तहत साल 2021 – 22 में प्रत्येक घर में नल जल सुविधा को सुनिश्चित करना है। इस अभियान को कई राज्यों में स्वीकार कर लिया गया है तथा उन राज्यों में नल के पानी की सप्लाई को लगभग पूर्ण रूप से प्राप्त किया जा चुका है। 

लॉस एंजिल्स के मेयर एरिक गार्सेटी को प्राप्त हुआ भारत में स्थित अमेरिकी दूतावास के राजदूत का पद 

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा लॉस एंजिल्स के मेयर एरिक गार्सेटी को भारत में स्थित अमेरिकी दूतावास के राजदूत के पद पर नियुक्त किया गया। व्हाइट हाउस ने इस बात की पुष्टि की।

मुख्य बिंदु 

  • अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा लॉस एंजिल्स के मेयर ऐरिक गार्सेटी को भारत में स्थित अमेरिकी दूतावास में राजदूत का पदभार दिया गया।
  • भारतीय अमेरिकी दूतावास के वर्तमान राजदूत केनेथ जस्टर की जगह अब मेयर गार्सेटी इस पदभार को संभालेंगे।
  • व्हाइट हाउस ने अन्य राजदूत के साथ एरिक गार्सेटी के  भी नाम की घोषणा कर कहा कि ” मेयर गार्सेटी वर्ष 2013 से लॉस एंजिल्स के मेयर रहे तथा उनका यह अनुभव सराहनीय रहा है। 
  • वर्तमान में मेयर एरिक गार्सेटी अमेरिकी मेट्रो के प्रमुख सचिव का पद संभाल रहे हैं।

मेयर एरिक गार्सेटी 

मेयर गार्सेटी का जन्म 4 फरवरी, 1971 में लॉस एंजिल्स में हुआ था। वह एक अमेरिकी पॉलिटिशियन हैं तथा वर्ष 2013 में लॉस एंजिल्स के 42वें मेयर के रूप में चुने गए थे। यह राज्य के पहले नौजवान थें जिन्होनें कम उम्र में इतनी बड़ी जिम्मेदारी को हासिल किया था।  एरिक गार्सेटी वर्ष 2006 -2012  में नगर परिषद् महापौर के रूप में कार्यरत रहे। वह शहर के प्रथम  निर्वाचित यहूदी महापौर और द्वितीय मैक्सिकन अमेरिकी महापौर के पद पर आसीन रहे। वर्तमान में एरिक गार्सेटी अमेरिकी मेट्रो की प्रमुख सचिव पर पदासीन हैं।  

तालिबान के कब्जे को देख भारत ने अपने राजनयिक और सुरक्षा कर्मियों को राज्य से निकालने का फैसला लिया

भारत ने अफगानिस्तान में स्थित वाणिज्य दूतावास से भारतीय राजनयिकों और सुरक्षा कर्मियों को तालिबान के कब्जे का विस्तार होने के कारण राज्य से निकालने का फैसला लिया। 

मुख्य बिंदु 

अफगानिस्तान में सुरक्षा व्यवस्था बिगड़ने के पश्चात भारत ने यह फैसला लिया। 

  • रविवार को विदेश मंत्रालय द्वारा इस घटना की सूचना दी गई।
  • अफगानिस्तान के कंधार इलाकों में तालिबान के संगठनों तथा अफगान सुरक्षा बल के मध्य मुठभेड़ हुई। 
  • भारत सरकार के इस आदेश के पश्चात वाणिज्य दूतावास से लगभग 50 राजनयिकों और सुरक्षा कर्मियों को सैन्य जहाज की सहायता से भारत ले आया गया है।
  •  विदेश मंत्रालय ने यह स्पष्ट किया कि अफगानिस्तान में स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास संपूर्ण रूप से बंद नहीं हुआ तथा स्थानीय कार्यकर्ताओं द्वारा कार्यों का संचालन होता रहेगा।
  • भारतीय कर्मियों की सुरक्षा हेतु इस फैसले को लेना आवश्यक था। 
  • विदेश मंत्रालय ने कहा ” अफगानिस्तान सुरक्षा व्यवस्था में अस्थिरता को देखते हुए तथा राज्य में स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास की सुरक्षा व्यवस्था की दिशा में सभी कर्मियों को कुछ वक्त के लिए भारत लाने का फैसला किया गया। 

तालिबान और अफगानिस्तान 

तालीबान चरमपंथी संगठन द्वारा अफगानिस्तान के 85 प्रतिशत हिस्से पर कब्जा कर लिया है। तालिबान की तरफ से यह दावा कि उन्होंने अफगान के 398 जिलों में से 250 जिलों पर कब्जा कर लिया है परंतु अफ़ग़ान द्वारा क्षेत्रों की पुष्टि नहीं की गई है। हाल ही में अफगान सुरक्षा बल तथा तालीबान संगठन बल में भीषण मुठभेड़ हुई तथा लड़ाई के दौरान अपने कानूनों को लागू करने की बात तालिबान द्वारा जारी रही। 

ट्विटर इंडिया ने विनय प्रकाश को नया रेजिडेंट शिकायत अधिकारी पदोन्नत किया 

ट्विटर इंडिया ने विनय प्रकाश को नया रेजिडेंट शिकायत अधिकारी पदोन्नत किया। भारत तथा ट्विटर विवाद की दिशा में यह फैसला लिया गया। 

मुख्य बिंदु 

  • नए संचार नियमों के पश्चात टि्वटर और भारत में गहमागहमी शुरू हो गई थी। 
  • यह मामला कोर्ट तक पहुंच गया था और इसके समाधान हेतु ट्विटर इंडिया ने अब विनय प्रकाश को नया रेजिडेंट शिकायत अधिकारी नियुक्त कर दिया है।
  • ट्विटर पर इस नियुक्ति को स्पष्ट किया गया है। 
  • ट्विटर अधिकारी की पदासीनता पर दिल्ली हाईकोर्ट ने गलत तथ्य पेश करने पर फटकार भी लगाई थी। 
  • नये आईटी एक्ट को ट्विटर द्वारा स्वीकृति प्रदान नहीं हुई तथा ट्विटर ने आईटी एक्ट की विरूद्ध विचार प्रकट किए। 
  • आईटी एक्ट पर ट्विटर द्वारा ठोस जवाब न‌ देना भारत और ट्विटर विवाद का कारण बना।‌

नया संचार नियम

नये संचार नियमों के अनुसार 50 लाख से अधिक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूजर्स वाली कंपनी द्वारा भारत में अनुपालन, नोडल एवं शिकायत अधिकारी पदोन्नत करने है परंतु यह अधिकारी मूल रूप से भारत के निवासी होने चाहिए। भारत द्वारा लागू आईटी एक्ट को लगभग काफी डिजिटल प्लेटफॉर्म ने स्वीकारा है परंतु ट्विटर द्वारा इस पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। आईटी एक्ट लागू के बाद ही ट्विटर और भारत में विवादों का सिलसिला शुरू हो गया था। अतः ट्विटर की भारत के आईटी ऐक्ट पर समर्थन मिलने तक यह विवाद जारी रह सकता है। 

भारत के पूर्व गेंदबाज पंकज सिंह ने किक्रेट से संन्यास लिया 

11 जुलाई, 2021 को भारत के पूर्व तेज गेंदबाज पंकज सिंह ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा कर दी है। पंकज ने दो टेस्ट और एक वनडे में भारत का प्रतिनिधित्व किया। 

मुख्य बिंदु 

  • पंकज सिंह राजस्थान तथा भारत के मुख्य गेंदबाज रहे हैं। 
  • शनिवार को उन्होंने किक्रेट से संन्यास ग्रहण करने की बात कही।
  • राजस्थान किक्रेट संघ को पत्र भेज संन्यास ग्रहण करने की पुष्टि की।
  • भारत के दो टेस्ट तथा वन डे मैच में पंकज सिंह ने अपनी बेहतर प्रदर्शनी दिखाई है।
  • 2010 -11 तथा 2012-13 सीजन मैच में रणजी ट्रॉफी को हासिल करने में पंकज का महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है। 

पंकज सिंह 

पंकज सिंह का जन्म 6 मई, 1985 में हुआ था। वह भारतीय गेंदबाज है। साल 2018 में वह प्रथम ऐसे गेंदबाज थे जिन्होंने रणजी ट्रॉफी फाइनल में 400 विकेट हासिल किए थे। उन्होंने अपने किक्रेट करियर में 117 मैच खेले हैं जिससे 472 विकेट हासिल किए हैं। 57 टी-20 मैच में पंकज ने 43 विकेट की जीत को सुनिश्चित किया। परंतु शनिवार को राजस्थान किक्रेट संघ को पत्र भेजकर उन्होंने किक्रेट से संन्यास ले लिया है और उनके एक बयान में उन्होंने बताया कि “यह सफर मेरे लिए बहुत महत्त्वपूर्ण रहा है और इस दौरान मैंने कई सफलताएँ हासिल की हैं।‌ परंतु एक समय व्यक्ति की जिंदगी में आता है जब उस भारी मन के साथ ऐसे महत्त्वपूर्ण फैसले लेने पड़ते हैं”। भारतीय गेंदबाज के रूप में उनके अमूल्य योगदान को क्रिकेट मैच के दौरान याद किया जाएगा। 

पेपर बैग दिवस : 12 जुलाई 

प्लास्टिक थैलियों को रोकने तथा लोगों द्वारा पेपर बैग के उपयोग की महत्ता को बढ़ते देख हर साल 12 जुलाई को पेपर बैग दिवस मनाया जाता है। जनता में पेपर बैग को लेकर जागरूकता हेतु इस दिवस को मनाया जाता है। 

मुख्य बिंदु 

  • प्लास्टिक थैलियों से फैलने वाले प्रदूषण पर प्रतिबंध तथा पेपर बैग की उपयोगिता जोर पर देने के लिए इस दिवस का आयोजन किया जाता है। 
  • प्लास्टिक थैलियों के कारण पर्यावरण को होने वाले नुक़सान को खत्म करने की दिशा में पेपर बैग की उपयोगिता को स्वीकारा गया है। 
  • पेपर बैग के प्रयोग में विस्तार से रोजगार की दिशा में विस्तार होता है। 
  • ग्रामीण महिलाओं द्वारा पेपर बैग का निर्माण किया जाता है जिससे उन्हें आजीविका प्राप्त होती है।
  • पेपर बैग से पर्यावरण संरक्षण में सहायता मिलती है।‌
  • इस दिन की जागरूकता को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा कार्यक्रम चलाए जाते हैं। 
  • प्लास्टिक मिट्टी में आसानी से नहीं मिलता इसलिए इसके प्रयोग पर रोक लगाना आवश्यक हो गया है। 
  • पेपर बैग वजन में भी हल्के होते हैं तथा इससे पर्यावरण में प्रदूषण नहीं फैलता है।

पेपर बैग और रोजगार 

कोविड-19 के दौरान पैकेजिंग तथा व्यापारिक कार्यों हेतु पेपर बैग का उपयोग बढ़ा है। ग्रामीण स्तर पर पेपर बैग का लाकडाउन के दौरान तेजी से निर्माण हुआ तथा इसकी माँग बढ़ी है।‌ इससे ग्रामीण महिलाओं को रोजगार की प्राप्ति हुई है जिससे वह अपने घर की आर्थिक स्थिति में महत्त्वपूर्ण रूप से योगदान दे रही है।‌ इस प्रकार देखा जा सकता है कि पेपर बैग के प्रयोग से पर्यावरण तथा समाज दोनों का कल्याण हो रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.