Home > Current Affairs > National > Indian economy grew by 7.8% in the first quarter of 2023-24;still fastest growing major economy in the world

2023-24 की पहली तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7.8% ;विश्व की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था

Utkarsh Classes 02-09-2023
Indian economy grew by 7.8% in the first quarter of 2023-24;still fastest growing major economy in the world Economy 4 min read

2023-24 की पहली तिमाही (अप्रैल से जून) में भारतीय अर्थव्यवस्था का विकास दर 7.8% रहा , जबकि 2022-23 की पहली तिमाही में यह 13.1 प्रतिशत थी। हालाँकि यह पहली तिमाही के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक के पूर्वानुमान  8% वृद्धि दर से कम था।  भारत अभी भी दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बना हुआ है जबकि 2023 में अप्रैल-जून तिमाही के दौरान चीनी अर्थव्यवस्था की विकास दर  6.3% थी  ।

2022-23 में भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर 7.2% थी। 

वित्तीय वर्ष 20222-23 की पहली तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रदर्शन के संबंध में आंकड़े राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ), सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा 31अगस्त 2023 को जारी किए गए थे।

स्थिर मूल्य पर सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर (2011-12 आधार वर्ष)

अर्थव्यवस्था का क्षेत्र

Q1 (अप्रैल-जून) 2023-24 में सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर

कृषि, वानिकी और मत्स्य पालन

3.5%

खनन एवं उत्खनन

5.8%

उत्पादन

4.7%

बिजली, गैस, जल आपूर्ति और अन्य उपयोगिता सेवाएँ

2.9%

विनिर्माण

7.9%

व्यापार, होटल, परिवहन, संचार और संबंधित सेवाएँ

9.2%

प्रसारण

12.2

वित्तीय, रियल एस्टेट और व्यावसायिक सेवाएँ

12.2%

लोक प्रशासन, रक्षा और अन्य सेवाएँ

7.9%

सकल घरेलू उत्पाद

7.8%

सकल मूल्यवर्धन (जीवीए)

7.8%

जीवीए = जीडीपी + उत्पादों पर सब्सिडी - उत्पादों पर कर

नाममात्र/नॉमिनल जीडीपी

2023-24 की पहली तिमाही में मौजूदा कीमतों पर नाममात्र जीडीपी 70.67 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है, जो 2022-23 की समान अवधि में 65.42 लाख करोड़ रुपये के मुकाबले 8 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

नाममात्र जीडीपी की गणना करते समय वस्तुओं और सेवाओं के बाजार मूल्य को शामिल किया जाता है। यह मुद्रास्फीति के लिए कोई समायोजन नहीं करता है।

स्थिर मूल्य पर जीडीपी या वास्तविक जीडीपी

2023-24 की पहली तिमाही में स्थिर मूल्य (2011-12) पर वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 40.37 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है, जबकि 2022-23 की समान अवधि में यह 37.44 लाख करोड़ रुपये था, जो कि 7.8 प्रतिशत का वृद्धि दर्शाता है। 

स्थिर मूल्य पर सकल घरेलू उत्पाद की गणना करते समय मुद्रास्फीति के कारण वस्तुओं और सेवाओं में मूल्य वृद्धि की गणना नहीं की जाती है। कीमतें एक आधार वर्ष के लिए तय की जाती हैं। यह वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन में वास्तविक वृद्धि को मापता है।

स्थिर कीमत पर जीडीपी किसी अर्थव्यवस्था की वृद्धि को मापने का सबसे अच्छा संकेतक है।

वित्तीय वर्ष 2023-24 में अनुमानित जीडीपी विकास दर

भारतीय रिजर्व बैंक को उम्मीद है कि 2023-24 में भारतीय अर्थव्यवस्था 6.5% की दर से बढ़ेगी।

मुख्य आर्थिक सलाहकार वी अनंत नागेश्वरन को उम्मीद है कि 2023-24 में भारतीय अर्थव्यवस्था 6.5% की दर से बढ़ेगी।

 

 

FAQ's

उत्तर : राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ), सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय

उत्तर: बिजली, गैस, जल आपूर्ति और अन्य उपयोगिता सेवाएँ। 2.9%

उत्तर : भारत, पहली तिमाही (अप्रैल-जून) 2023 -24 में 7.8%

उत्तर : 3.5%

उत्तर: 6.5%
Leave a Review

Today's Article
Related Articles
Utkarsh Classes
DOWNLOAD OUR APP

Download India's Best Educational App

With the trust and confidence that our students have placed in us, the Utkarsh Mobile App has become India’s Best Educational App on the Google Play Store. We are striving to maintain the legacy by updating unique features in the app for the facility of our aspirants.