चाइना और अमेरिका व्यापार युद्ध

  • utkarsh
  • Sep 24, 2019
  • 12
  • Blog Hindi, Current Affairs,
चाइना और अमेरिका व्यापार युद्ध

क्या है खबर?

हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्रेडवॉर को रोकने के संकेत दिए है।

क्या है व्यापार युद्ध (Trade War) ?

  • व्यापार युद्ध एक आर्थिक टकराव है जिसमें टकराव करने वाले देशों द्वारा संरक्षणवाद को बढ़ावा दिया जाता है।
  • इसके तहत् जब कोई A देश द्वारा किसी B देश से आने वाले उत्पादों पर शुल्क बढ़ा दिया जाता है तो जवाबी कार्यवाही के रूप में B देश द्वारा A देश से आयातित वस्तुओं पर शुल्क बढ़ा दिया जाता है।
  • एक-दूसरे देशों के खिलाफ जवाबी कार्यवाही में निरंतर शुल्क बढ़ता जाता है जिसे व्यापार युद्ध के संज्ञा गई है।
  • हाल के समय में अमेरिका और चीन द्वारा एक दूसरे के देशों से आयातित वस्तुओं पर शुल्क बढ़ाए गए जो अभी तक जारी है।

क्या कारण है अमेरिका चीन व्यापार युद्ध के?

  • अमेरिका का कई वर्षों से अमेरिका-चीन चालू खाता घाटा निरंतर बढ़ता जा रहा है।
  • 2018 में अमेरिका तथा चीन के मध्य व्यापार 737.1 अरब डॉलर रहा था जिसमें अमेरिका का चीन को निर्यात 179.3 अरब डॉलर था तथा आयात 557.9 अरब डॉलर था।
  • इन आँकड़ों के आधार पर अमेरिका चीन व्यापार का अमेरिका के लिए चालू खाता घाटा (CAD) 378.6 अरब डॉलर था।
  • इस चालू खाता घाटा रोकने के लिए तथा कुछ ट्रंप की संक्षणवाद नीति ने व्यापार युद्ध को हवा दी।

कैसे हुइ अमेरिका चीन व्यापार युद्ध की शुरुआत?

  • मार्च, 2018 में ट्रंप प्रशासन ने स्टील के आयात पर 25% तथा एल्यूमिनियम के आयात पर 10% शुल्क घोषित किया जो सबसे ज्यादा चीन निर्यात करता है।
  • प्रतिक्रिया के स्वरूप चीन ने अमेरिका से आयात होने वाले 128 उत्पादों पर 15-25% तक आयात शुल्क लगा दिया।
  • मई, 2018 में दोनों देशों के मध्य सहमति बनी जिसमें चीन अमेरिका के व्यापार घाटे को कम करने के लिए राजी हो गया।
  • जुलाई में ट्रंप प्रशासन ने चीन से आयातित 34 अरब उॉलर की वस्तुओं के मूल्य पर 25% आयात शुल्क लगा दिया जवाब में चीन ने अमेरिका से आयातित इसी मूल्य की वस्तुओं पर 25% आयात शुल्क लगा दिया।
  • क्रिया-प्रतिक्रिया चलती रही वस्तुओं के मूल्य के समूहों के मूल्य बढ़ते रहे तथा इन समूहों में वस्तुएँ भी बढ़ती रही जो अगस्त, 2019 में 300 अरब डॉलर के वस्तुओं के समूह तक पहुँच गया।

क्या होगा इस व्यापार युद्ध का भारत पर प्रभाव ?

व्यापार युद्ध का भारत पर सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह के प्रभाव पड़ेंगे जो निम्न है –

(1) सकारात्मक प्रभाव –

  • भारत के द्वारा अमेरिका व चीन में स्वयं के निर्यात से उन वस्तुओं की पूर्ति की जा सकती है जिसकी व्यापार युद्ध से कमी हुई है।
  • भारत चीनी कम्पनियों और अमेरिकी कंपनियों को भारत में निवेश के लिए आकर्षित कर सकता है जहाँ से ये कंपनियाँ दोनों देशों को निर्यात कर पाएँगी।
  • भारत चीन पर स्वयं का व्यापार खाता कम करने का भी दबाव डाल सकता है जो विदेशी निवेश के माध्यम से कम किया जा सकता है।

(2) नकारात्मक प्रभाव –

  • इससे विश्व में माँग की कमी हो रही है इससे भारत का निर्यात भी प्रभावित हो रहा है।
  • व्यापार युद्ध से विश्व में शेयर बाजार प्रभावित हो रहे हैं भारत के शेयर बाजार भी इससे अछूता नहीं है।
  • चूंकि अमेरिका ने चीन को टारगेट करते हुए स्टील के आयात पर शुल्क लगाया है इससे भारत के अमेरिका में स्टील निर्यात को फर्क पड़ा है।

12 Comments
  1. Thanks sir..hmari knowledge bdhane K liye..mujhe ab current ache se samjh me aata he..or samjh me aane se yaad rakhne me easy rehta he..

Leave a Reply

Your email address will not be published.