टोक्यो पैरालंपिक – 2020 : पर एक नज़र

  • utkarsh
  • Sep 08, 2021
  • 0
  • Blog, Blog Hindi, News Hindi,
टोक्यो पैरालंपिक – 2020 : पर एक नज़र

टोक्यो ओलंपिक के समापन के बाद टोक्यो पैरालम्पिक-2020 का आयोजन भी सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। कोरोना महामारी के कारण इस पैरालम्पिक का आयोजन दिनांक 24 अगस्त से 5 सितंबर तक रखा गया, जिसमें मेडल पाने के लिए दुनियाभर के पैराएथलीटों ने कड़ी मशक्‍कत करके अपना दमखम दिखाया। आज के इस लेख के माध्यम से टोक्यो पैरालम्पिक-2020 से संबंधित महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ आप प्राप्त करेंगे।

यह 16वां ग्रीष्मकालीन पैरालंपिक खेलों का आयोजन हैं जो कि जापान की राजधानी टोक्यो में आयोजित किया गया। इस बार के पैरालम्पिक गेम्स में पाँच नए देश भी शामिल हुए जिनके नाम भूटान, मालदीव, ग्रेनाडा, पराग्वे, सेंट विंसेंट और ग्रेनाडिनेस हैं।

टोक्यो-2020 पैरालम्पिक गेम्स शुभंकर – टोक्यो-2020 पैरालम्पिक गेम्स शुभंकर Someity है। यह काफी शक्तिशाली चरित्र है, जिसमें शक्तिशाली शक्तियाँ और चेरी ब्लॉसम स्पर्श सेंसर हैं।

पदक तालिका में शीर्ष 5 देश

चीन207 (स्वर्ण: 96, रजत: 60, कांस्य: 51)
ब्रिटेन124 (स्वर्ण: 41, रजत : 38, कांस्य: 45)
संयुक्त राज्य अमेरिका104 (स्वर्ण: 37, रजत : 36, कांस्य: 31)
रूसी पैरालंपिक समिति118 (स्वर्ण: 36, रजत : 33, कांस्य: 49)
नीदरलैंड59 (स्वर्ण: 25, रजत: 17, कांस्य: 17)

इस 16वें ग्रीष्मकालीन पैरालंपिक में 163 देशों के 4500 खिलाडियों ने 22 खेलों की 540 स्पर्धाओं में भाग लिया। इस बार अफगानिस्तान से कोई भी एथलीट नहीं होने के बावजूद उद्घाटन समारोह में अफगानिस्तान के झंडे को शामिल किया गया। क्योंकि अफगानिस्तान के खिलाड़ी देश पर तालिबान के कब्जे से बने तनावपूर्ण माहौल के कारण इसमें भाग नहीं ले सकें। हालाँकि कई देशों ने कोरोना महामारी के कारण इस पैरालंपिक में हिस्सा नहीं लिया जिनमें कुल 21 देशों के नाम शामिल हैं।

पैरालंपिक में भारत –

  • भारत ने पहली बार पैरालिंपिक में हिस्सा वर्ष 1968 में लिया था।
  • टोक्यो पैरालंपिक से पहले भारत इन खेलों में कुल 12 पदक जीत चुका है।
  • भारत की तरफ से 54 खिलाडियों ने इस प्रतिस्पर्धा में भाग लिया।
  • इस बार भारत ने अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 19 पदक जीते तथा पदक तालिका में 24वाँ  स्थान प्राप्त किया ।
  • भारत ने कुल 5 स्वर्ण, 8 रजत और 6 कांस्य पदक हासिल किए।

भारत का सम्पूर्ण प्रदर्शन –

टोक्यो पैरालिंपिक में भारत ने अपना सफर 19 पदक जीतने के साथ पूरा किया। जिसमें पाँच स्वर्ण, आठ रजत और छ: कांस्य पदक शामिल है। इन खेलों में भारत का यह अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है, जहाँ दो खिलाड़ियों ने दो-दो पदक अपने नाम किए हैं।

भारतीय पदक विजेताओं के नाम –

स्वर्ण पदक विजेता

1. अवनि लेखरा – अवनि महिलाओं की आर-2 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई है। मात्र 19 साल की अवनि ने फाइनल में 249.6 अंक बनाकर विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

2. सुमित अंतिल – सुमित ने जैवलिन थ्रोअर के एफ 64 वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। सुमित ने रिकॉर्ड 68.55 मीटर जैवलिन थ्रो किया।

3. मनीष नरवाल – शूटर मनीष नरवाल ने P4 मिक्स्ड 50 मीटर पिस्टल एसएच-1 के फाइनल में 218.2 का स्कोर किया।

4. प्रमोद भगत – पैरालंपिक की बैडमिंटन प्रतियोगिता में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी  बन गए हैं। इन्होंने बैडमिंटन के पुरुष सिंगल्स एसएल3 में स्वर्ण जीता है।

5. कृष्णा नागर – कृष्णा नागर ने बैडमिंटन के पुरुष सिंगल्स एसएच6 में स्वर्ण पदक जीता।

रजत पदक विजेता

1. भावना पटेल भारत के लिए इस पैरालंपिक में भावना ने पहला पदक जीता था। वे टेबल टेनिस के क्लास 4 वर्ग में रजत पदक जीतने में सफल हुई।

2. निशाद कुमार पुरुषों के टी-47 हाई जंप में निषाद कुमार ने प्रथम प्रयास में 2.02 और दूसरी बार में 2.06 मीटर की जंप के साथ देश को रजत पदक दिलाया।

3. देवेंद्र झाझरिया जैवलिन थ्रो के F46 किग्रा वर्ग में देवेंद्र ने 64.35 का बेस्ट थ्रो कर रजत पदक जीता।

4. योगेश कथुनिया कथुनिया ने पुरुषों के डिस्कस थ्रो के 56 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीता। अपने आखिरी प्रयास में 44.38 मीटर का सर्वश्रेष्ठ थ्रो करके उन्होंने यह सफलता पाई।

5. सिंघराज अधाना सिंहराज ने P4 मिक्स्ड 50 मीटर पिस्टल एसएच-1 में 216.7 के स्कोर के साथ रजत पदक जीता।

6. मरियप्पन थंगावेलु मरियप्पन थंगावेलु ने पुरुषों की ऊँची कूद टी-63 स्पर्धा में 1.86 मीटर की जंप से देश के लिए रजत पदक जीता।

7. प्रवीण कुमार प्रवीण कुमार ने पुरुषों की हाई जंप टी64 वर्ग में 2.07 मीटर की कूद से रजत पदक जीता और एशियन रिकॉर्ड बनाया। 

8. सुहास यथिराज नोएडा के जिलाधिकारी और बैडमिंटन खिलाड़ी सुहास ने एसएल4 वर्ग में रजत पदक जीता।

कांस्य पदक विजेता

1. सुंदर सिंह गुर्जर सुन्दर ने पुरुषों के F-46 किग्रा वर्ग में 64.01 मीटर के जैवलिन थ्रो से देश के लिए कांस्य पदक जीता।

2. सिंघराज अधाना सिंहराज ने पुरुषों के 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 स्पर्धा में 216.8 के स्कोर से कांस्य पदक जीता।

3. शरद कुमार – पुरुषों की ऊँची कूद टी-63 स्पर्धा में 1.83 मीटर की जंप से कांस्य पदक अपने नाम किया।

4. अवनि लेखरा महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन SH1 स्पर्धा में 445.9 के स्कोर से कांस्य पदक जीता।

5. हरविंदर सिंह मेंस इंडिविजुअल रिकर्व आर्चरी में हरविंदर सिंह ने शानदार प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक जीता। इसके साथ वे पैरालंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले पहले भारतीय तीरंदाज बन गए हैं ।

6. मनोज सरकार – बैडमिंटन के एसएल3 वर्ग में मनोज सरकार ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए देश के लिए कांस्य पदक जीता।

टोक्यो पैरालंपिक में भारतीय खिलाडियों ने सबसे ज्यादा एथलेटिक्स में 8 पदक, निशानेबाजी में 5, बैडमिंटन में 4 पदक तथा टेबल टेनिस व तीरंदाजी में 1-1 पदक जीते हैं। पैरालंपिक खेलों में भारत के जीते हुए पदकों की संख्या पहली बार दोहरे अंकों में पहुँची है। भारत के इस ऐतिहासिक प्रदर्शन में अवनि लेखरा और सिंहराज ने दो-दो पदक जीतने में सफलता हासिल की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.