विश्व कपास दिवस समारोह 2019

विश्व कपास दिवस समारोह 2019

क्या है खबर

  • विश्व व्यापार संगठन (WTO) द्वारा 7 अक्टूबर को  जिनेवा में  प्रथम विश्व कपास दिवस समारोह का आयोजन किया गया।
  • इस समारोह में भारत का प्रतिनिधित्व केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी करेंगी। भारत ने विश्‍व कपास दिवस पर 5 अफ्रीकी देशों के लिए प्रौद्योगिकी सहायता कार्यक्रम की घोषणा की ।
  • विश्व में सबसे अधिक कपास उत्पादक देशों (बेनिन, बुर्कीना फासो, चाड और माली) के द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा को कपास दिवस अनुरोध किए जाने पर, जिनेवा में इस समारोह का आयोजन किया गया।
  • समारोह के दौरान कपास प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जा रहा है, जिसमें टेक्सप्रोसिल, हथकरघा निर्यात संवर्धन परिषद और राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान अपने स्टॉल लगाएंगे। प्रदर्शनी में राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती के स्मरण में रूई से बनी महात्मा गांधी की एक मूर्ति भी रखी जाएगी।

विश्व कपास दिवस समारोह 2019

  • विश्व व्यापार संगठन इस वर्ष संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन (FAO), व्यापार और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD), अंतर्राष्ट्रीय व्यापार केंद्र (ITC) और अंतर्राष्ट्रीय कपास सलाहकार समिति (ICAC) के सहयोग से कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है।
  • यह कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा विश्व कपास दिवस की मान्यता के लिए कपास -4 देशों (बेनिन, बुर्कीना फासो, चाड और माली) के आधिकारिक आवेदन से उपजा है, जो कि एक वैश्विक वस्तु के रूप में कपास के महत्व को दर्शाता है।
  • इसका प्रमुख उद्धेश्य कपास और उसके सभी हितधारकों को उत्पादन, परिवर्तन और व्यापार में एक्सपोज़र और मान्यता देना , कपास से संबंधित उद्योगों और विकासशील देशों में उत्पादन के लिए निजी क्षेत्र और निवेशकों के साथ नए सहयोग की तलाश करना , कपास पर तकनीकी विकास, साथ ही साथ अनुसंधान और विकास को बढ़ावा देना हैं।

भारत में कपास उत्पादन

  • भारत चीन के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा कपास उत्पादक एवं उपभोक्ता है।
  • भारत में कपास एक व्यापारिक फसल है। कपास का उल्लेख ऋग्वेद में मिलता है जो ये दर्शाता है की भारतीयों का कपास से सूती वस्र बानाने का ज्ञान प्राचीन काल से ही है।
  • कपास से तैयार रुई को सफेद सोना भी कहा जाता है। कपास उत्पादन के लिये काली मिट्टी की आवश्यकता होती है।
  • भारत में कपास के प्रमुख उत्पादक राज्य गुजरात , महाराष्ट्र , तेलंगाना है।
  • भारत में कपास न केवल वाणिज्यिक फसल और लाखों किसानों की आजीविका का जरिया है बल्कि यह औद्योगिकी गतिविधि, रोजगार और निर्यात की दृष्टि से महत्वपूर्ण कपड़ा उद्योग का प्रमुख प्राकृतिक फाईबर है।

Comments ( 3 )

  • Jetharam

    Super sir ji

  • Anonymous

    Thanku sir.

  • Dinesh Kumar Vaishnav

    Mst sir ji

Give a comment

In light of Pandameic COVID-19, we are offering ONLINE CLASSES for students from 20TH of MARCH onwards. DOWNLOAD NOW
+