राष्ट्रीय एकता परिषद्

राष्ट्रीय एकता परिषद्

चर्चा में क्यों ?

  • राम जन्मभूमि/बाबरी मस्जिद मुद्दे पर सर्वसम्मति बनाने के लिये राष्ट्रीय एकता परिषद् की बैठक बुलाई जाने की मांग की जा रही है।

राष्ट्रीय एकता परिषद के बारे में  –

  • प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा वर्ष 1961 में राष्ट्रीय एकता से संबंधित विभिन्न मुद्दों के समाधान के लिये एक सम्मेलन का आयोजन किया गया ततपश्चात् वर्ष 1962 में राष्ट्रीय एकता परिषद् (National Integration Counil- NIC) की पहली आधिकारिक बैठक का आयोजन किया गया।
  • वर्ष 1968 में हुई राष्ट्रीय एकता परिषद् की बैठक में इसके उद्देश्य की घोषणा की गई जो इस प्रकार है- “ हमारे संविधान आधार आम नागरिकता (Common Citizenship), विविधता में एकता, धर्मों की स्वतंत्रता (Freedom of Religions), धर्मनिरपेक्षता (Secularism), समानता, राजनीतिक-सामाजिक-आर्थिक न्याय और सभी समुदायों के बीच भाईचारा है।” राष्ट्रीय एकता परिषद् इन संवैधानिक मूल्यों के अनुपालन हेतु प्रतिबद्धता है।
  • इसका उद्देश्य सांप्रदायिकता, जातिवाद और क्षेत्रवाद की समस्याओं को दूर करने हेतु समाधान खोजना है।
  • यह एक सरकारी सलाहकार निकाय है और इसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री करता है।
  • परिषद के सदस्यों में कैबिनेट मंत्री, उद्यमी, मशहूर हस्तियाँ, मीडिया प्रमुख, मुख्यमंत्री और विपक्षी नेता आदि शामिल होते हैं।
  • 28 अक्टूबर 2013 को प्रधान मंत्री की अध्यक्षता में राष्ट्रीय एकता परिषद् का पुनर्गठन किया गया।
  • राष्ट्रीय एकता परिषद् की अंतिम बैठक (सोलहवीं ) 23 सितंबर 2013 को आयोजित की गई थी।

Comment ( 1 )

  • Jitendra singh

    Good information sir

Give a comment