पर्यटन पर्व 2019

पर्यटन पर्व 2019

क्या है खबर?

  • हाल ही में पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन और सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस व इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने नई दिल्ली में राष्ट्रव्यापी ‘पर्यटन पर्व 2019’ का शुभारंभ किया है।
  • पर्यटन मंत्रालय द्वारा ‘पर्यटन पर्व 2019’ का आयोजन देश भर में 2 से 13 अक्टूबर, 2019 तक किया जाएगा। इस पर्व का दिल्ली में आयोजन रफी मार्ग और जनपथ के बीच राजपथ लॉन पर 2 से 6 अक्टूबर, 2019 तक किया जाएगा।
  • पर्यटन पर्व से जुड़े समारोह स्थल में केंद्र सरकार के मंत्रालयों के साथ-साथ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 31 स्टॉल हैं। देश भर के व्यंजनों के स्वाद से अवगत कराने वाले 59 फूड स्टॉल भी लगाए गए हैं। पर्यटन पर्व के आयोजन का उद्देश्य ‘देखो अपना देश’ के संदेश का प्रचार-प्रसार करना है। इसका मुख्य लक्ष्य भारतीयों को देश के विभिन्न पर्यटन स्थलों का भ्रमण करने के साथ-साथ ‘सभी के लिए पर्यटन’ के संदेश का प्रचार-प्रसार करना है। प्रधान मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि 2022 तक सभी को भारत के 15 स्थानों का दौरा करना चाहिए ताकि पर्यटन को बढ़ावा मिले।
  • ‘पर्यटन पर्व 2019’ महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को समर्पित है। ‘पर्यटन पर्व’ के आयोजन का उद्देश्य पर्यटन के फायदों पर फोकस करना, देश की सांस्कृतिक विविधता को दर्शाना और ‘सभी के लिए पर्यटन’ के सिद्धांत को मजबूती प्रदान करना है।

पर्यटन पर्व के तीन घटक हैं :

i)   देखो अपना देश : इसका उद्देश्य भारतीयों को अपने देश का भ्रमण करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

ii)  सभी के लिए पर्यटन : देश के सभी राज्यों में स्थित विभिन्न महत्वपूर्ण स्थलों पर पर्यटन संबंधी आयोजन किए जा रहे हैं।

iii) पर्यटन एवं गवर्नेंस : पर्यटन पर्व से जुड़ी गतिविधियों के तहत देश भर में विभिन्न विषयों (थीम) पर हितधारकों के साथ आपस में संवादात्मक सत्र एवं कार्यशालाएं आयोजित की गई हैं।

विश्व पर्यटन दिवस

  • विश्व पर्यटन दिवस पूरे विश्व में हर वर्ष 27 सितंबर को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत यूनाइटेड नेशंस ने की थी। इस दिन जगह-जगह टूरिज्म से जुड़े कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जो विकासशील देशों के लिए आय का मुख्य स्रोत भी मन जाता है।
  • संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन (यूएनडब्ल्यूटीओ) ने ‘पर्यटन और रोजगारः सभी के लिए बेहतर भविष्य’ (Tourism and Jobs: a better future for all) विषय पर विश्व पर्यटन दिवस 2019 मनाने के लिए भारत को मेजबान देश के रूप में चुना है।
  • इसका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में पर्यटन और इसके सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक मूल्य के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करना है। इस आयोजन का उद्देश्य संधारणीय विकास लक्ष्यों (एसडीजी) में दी गई वैश्विक चुनौतियों का समाधान करना और इन लक्ष्यों की प्राप्ति में पर्यटन क्षेत्र के संभावित योगदान को बताना है।
  • संयुक्त राष्ट्र संघ ने 1980 में 27 सितंबर को विश्व पर्यटन दिवस के तौर पर मनाने का निर्णय लिया था विश्व पर्यटन दिवस मनाने का उद्देश्य दुनिया भर के लोगों को पर्यटन के प्रति जागरूक करना है।
  • पर्यटन मंत्रालय के आँकड़ों के अनुसार, 2017 में 1.65 अरब घरेलू पर्यटकों ने सैर की। पर्यटन के क्षेत्र में वृद्धि हो रही है। मंत्रालय ने बताया कि विदेशी पर्यटकों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है।
  • 2018 में एक करोड़ पांच लाख पर्यटक भारत आए थे  तथा  टूरिज्म सेक्टर का देश की GDP में योगदार 9.2 फीसदी था। विदेश से आने वाले पर्यटक दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, आगरा और जयपुर घूमना पसंद करते हैं।

Comments ( 6 )

  • आशाराम मीना

    राजस्थान

  • Amrit heeragar

    good sir ji jab se utkarsh ki information se juda..current evant me help ho rhi h sir ji..me sdev apka abhari rahunga..sir ji vese to off line student hu pr, meri din job lagegi us din me utkarsh ki class me all staff se milne ahunga..thankfully

  • Mahi gurjar

    super duper hit hai sr ji

  • Anonymous

    thankx sir

  • Vikas Chaudhary

    Thank you sir

  • विक्रम गर्ग

    ज्ञान के क्षेत्र मे बहुत ही अच्छा है।
    आपका हार्दिक आभार🙏🙏🙏

Give a comment

In light of Pandameic COVID-19, we are offering ONLINE CLASSES for students from 20TH of MARCH onwards. DOWNLOAD NOW
+