करेंट अफेयर्स – 29 जून 2022

  • utkarsh
  • Jun 29, 2022
  • 0
  • Blog, Blog Hindi, Current Affairs, News Hindi,
करेंट अफेयर्स – 29 जून 2022

दैनिक समसामयिकी (Current Affairs) के मुद्दों की महत्त्वपूर्ण जानकारी आज के इस लेख द्वारा उपलब्ध कराई गई है, जो सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में उपयोगी है –

VL-SRSAM मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण

हाल ही में भारतीय नौसेना तथा रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने ओडिशा के चांदीपुर के तट से वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (VL-SRSAM) का परीक्षण किया जो सफल रहा। इस परीक्षण पर भारतीय नौसेना और डीआरडीओ के वरिष्ठ प्रतिनिधियों ने नजर रखी। मिसाइल के उड़ान पथ और स्वास्थ्य संकेतकों को ट्रैक करने के लिए विभिन्न प्रकार के ट्रैकिंग सेंसर आईटीआर, चांदीपुर द्वारा तैनात किए गए थे।

महत्त्वपूर्ण बिंदु:

  • VL-SRSAM, जहाज से चलने वाली हथियार प्रणाली है।
  • यह समुद्री-स्किमिंग टारगेट सहित निकट सीमा पर हवाई खतरों से निपटने में सक्षम है। 
  • यह परीक्षण उच्च गति के हवाई लक्ष्य वाले विमान के साथ किया गया जो सफल रहा। 
  • स्वदेशी मिसाइल प्रणाली हवाई खतरों के खिलाफ नेवी के जहाजों की रक्षा क्षमता को अधिक बढ़ाएगी।

अंतर्राष्ट्रीय एमएसएमई दिवस-2022

हर साल 27 जून को अंतर्राष्ट्रीय एमएसएमई दिवस मनाया जाता है। सूक्ष्म, लघु और मध्यम आकार के उद्यम (MSMEs) दिवस का आयोजन सतत विकास लक्ष्यों (SDGs) के कार्यान्वयन में सूक्ष्म, लघु और मध्यम आकार के उद्यमों के योगदान को मान्यता देने हेतु किया जाता है।

MSMEs हर देश के विकास के लिए महत्त्वपूर्ण है क्योंकि, यह अर्थव्यवस्था की रीढ़ होते हैं। इस प्रकार के उद्यमों में वे शामिल हैं जो 250 से कम कर्मचारियों को रोजगार देते हैं। इनकी बदौलत वैश्विक स्तर पर दो-तिहाई से अधिक नौकरियों के अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

इस दिवस का इतिहास:

संयुक्त राष्ट्र ने अप्रैल, 2017 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में पारित एक प्रस्ताव के माध्यम से 27 जून को सूक्ष्म, लघु और मध्यम आकार के उद्यम दिवस के रूप में नामित किया था। फिर मई 2017 में ‘Enhancing National Capacities for Unleashing Full Potentials of MSMEs in Achieving the SDGs in Developing Countries’ नामक कार्यक्रम शुरू किया गया। यह कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र शांति और विकास कोष के सतत विकास उप-निधि के लिए 2030 एजेंडा द्वारा वित्तपोषित किया गया है।


मध्य प्रदेश बना रणजी ट्रॉफी-2022 का चैंपियन

मध्य प्रदेश ने बेंगलुरू के एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में हुए फाइनल मुकाबले में टूर्नामेंट की सबसे मज़बूत और 41 बार की चैंपियन टीम मुंबई को हरा कर इतिहास रच दिया है। आदित्य श्रीवास्तव के नेतृत्व में मध्य प्रदेश ने मुंबई को 6 विकेट से हराकर अपना पहला रणजी ट्रॉफी खिताब जीता है। इस टीम को भारत के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज चंद्रकांत पंडित से बतौर कोच प्रशिक्षण मिला।

रणजी ट्रॉफी-2022 के लिए ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ मुंबई के बल्लेबाज सरफ़राज़ खान को चुना गया। उन्होंने इस चैंपियनशिप में 122.75 की औसत से 982 रन बना कर बल्लेबाजों की सूची में शीर्ष स्थान हासिल किया। झारखंड के स्पिनर शाहबाज नदीम 25 विकेट ले कर शीर्ष गेंदबाज बने। 

रणजी ट्रॉफी के बारे में:

यह भारत की एक घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता है जिसे पहली बार जुलाई, 1934 में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की एक बैठक के बाद शुरू किया गया था। वर्तमान में रणजी ट्रॉफी का आयोजन 38 टीमों के बीच किया जाता है। इसमें भारत के सभी 28 राज्य और नौ केंद्र शासित प्रदेशों की टीमें शामिल होती हैं। इस प्रतियोगिता का नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर रणजीत सिंह जी के नाम पर है। इस प्रतियोगिता का पहला मैच दिनांक 4 नवंबर, 1934 को मद्रास और मैसूर के बीच खेला गया था। मुंबई ने इस चैंपियनशिप में 15 बैक-टू-बैक जीत के साथ सबसे अधिक 41 बार यह टूर्नामेंट जीता है।


75 स्थानों पर स्थापित किए जाएंगे BRO कैफे

हाल ही में रक्षा मंत्रालय ने सीमा सड़क संगठन (BRO) के साथ सीमा सड़कों के विभिन्न वर्गों पर जल्द ही बीआरओ कैफे खोलने की अनुमति दे दी है। इसके तहत अरुणाचल प्रदेश में 19, हिमाचल प्रदेश में 7, असम में 2, लद्दाख में 14, जम्मू-कश्मीर में 12, उत्तराखंड में 11 और राजस्थान में 5 बीआरओ कैफे स्थापित किए जाएंगे। इनके अलावा सिक्किम, पश्चिम बंगाल, नागालैंड, पंजाब और मणिपुर में सड़क किनारे अन्य सुविधाएँ उपलब्ध कराई जाएगी। 

बीआरओ कैफे के बारे में:

  • ये कैफे पर्यटकों को बुनियादी सुविधाएँ और आराम-प्रदान करने के उद्देश्य से निर्मित किए जाएंगे। 
  • इनके माध्यम से सीमावर्ती क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के साथ स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। 
  • बीआरओ कैफे सुविधाओं को एजेंसियों के साथ सार्वजनिक निजी भागीदारी मोड में लाइसेंस के आधार पर विकसित किया जाएगा।
  • बीआरओ द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार ये एजेंसियाँ सुविधाओं का डिजाइन, निर्माण और संचालन करेंगी।
  • इन कैफे में सभी के लिए फूड, प्राथमिक चिकित्सा, प्लाजा और टॉयलेट की सुविधा के साथ दो और चार पहिया वाहनों के लिए पार्किंग भी उपलब्ध होगी।

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने दी भारत एनसीएपी मसौदे को मंजूरी

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भारत में नई कार आकलन कार्यक्रम (NCAP) शुरू करने के लिए मसौदा GSR अधिसूचना को मंजूरी दे दी है। इसके तहत भारत में अब ऑटोमोबाइल के क्रैश टेस्ट में उनके प्रदर्शन के आधार पर रेटिंग दी जाएगी। भारत-NCAP उपभोक्ता के तहत एक उपभोक्ता केंद्रित प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य करेगा। इससे ग्राहक स्टार-रेटिंग के आधार पर सुरक्षित कारों का विकल्प चुन सकेंगे। NCAP देश में सुरक्षित वाहनों के विनिर्माण के लिए मूल उपकरण निर्माताओं (OEM) के बीच एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देगा।

भारत एनसीएपी के बारे में:

इसके परीक्षण प्रोटोकॉल को मौजूदा भारतीय नियमों में फैक्टरिंग ग्लोबल क्रैश टेस्ट प्रोटोकॉल के साथ जोड़ा जाएगा। भारत एनसीएपी के द्वारा OEM अपने वाहनों को भारत की अपनी इन-हाउस परीक्षण सुविधाओं में परख सकेंगे। यह भारत को विश्व में नंबर 1 ऑटोमोबाइल हब बनाने के मिशन के साथ देश के ऑटोमोबाइल उद्योग को आत्मनिर्भर बनाने में महत्त्वपूर्ण साबित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.