ब्लयू फ्लैग तट

ब्लयू फ्लैग तट

क्या है खबर

हाल ही में केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने 12 समुद्र तटों को ब्ल्यू फ्लैग प्रमाणीकरण के लिए चुना है जो विश्व के अन्य समुद्र तटों से प्रतिस्पर्धा करेंगें।

क्या है ब्ल्यू फ्लैग चैलेंज?

  • किसी समुद्री तट को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उच्च मानक का बनाना जिनमें तट प्रबंधन, आधारभूत संरचना के विकास से संबंधित प्रोजेक्ट, तट से संबंधित नियोजन, स्वच्छता, सुरक्षा को सुनिश्चित किया जाता है।
  • इन सभी मानकों के आधार पर पर्यावरण मंत्रालय ने 12 समुद्री तटों को चुना है।
  • ब्ल्यू फ्लैग प्रोग्राम का आयोजन अंतर्राष्ट्रीय गैर सरकारी तथा गैर लाभकारी निकाय FEE
    (फाउन्डेशन फॉर इन्वायरमेंट एजुकेशन) द्वारा किया जाता है।
  • इसकी शुरूआत 1985 में फ्रांस से हुई तथा समस्त यूरोप में 1987 से क्रियान्वयन किया जा रहा है।
  • 2001 से इसका विस्तार यूरोप से बाहर होने लगा जापान और दक्षिण कोरिया के ही तट हैं जो दक्षिण तथा दक्षिण पूर्व एशिया का प्रतिनिधित्व करते हैं।
  • स्पेन में सबसे ज्यादा ब्ल्यू फ्लैग समुद्री तट हैं इसके बाद क्रमश: यूनान व फ्रांस आते हैं।

क्या है ब्ल्यू फ्लैग के मानक?

  • ब्ल्यू फ्लैग प्रमाणिकरण के लगभग 33 मानक हैं।
  • तट के आस-पास के पारिस्थितिकी से लोगों को अवगत कराने वाली जानकारी उपलब्ध हो तथा तट क्षेत्र की आचार संहित हो।
  • तट क्षेत्र की जल गुणवत्ता उच्च हो इसमें औद्योगिक तथा सीवेज का प्रवाह न किया गया हो।
  • तट के समीप प्रवाल क्षेत्र को समय-समय पर पर्यवेक्षित किया जाना चाहिए।
  • कचरा प्रबंधन प्रणाली तथा ठोस तथा जैव कचरों के निपटान के लिए उत्तम व्यवस्था हो।
  • समुद्र तट पर प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध होनी चाहिए ताकि मामूली चोटों से जल्द निपटा जा सके।
  • समुद्र तट के मुख्य क्षेत्र में पालतु जानवरों को प्रतिबंधित किया गया हो।
  • इसके कुछ मानक जरूरी है तो कुछ मानक तट प्रबंधकों को तट की उच्च गुणवत्ता रखने के लिए ऐच्छिक है।

12 समुद्र तटों में कौन-कौन से समुद्र तट शामिल किए गए है?

  1. शिवराजपुर (गुजरात)
  2. भोगावे (महाराष्ट्र)
  3. घोघला (दीव)
  4. मिरामर (गोवा)
  5. कप्पड (केरल)
  6. ऐडन (पुडुचेरी)
  7. कसरकोड (कर्नाटक)
  8. महाबलीपुरम (तमिलनाडु)
  9. रूशीकोन्डा (आन्ध्रप्रदेश)
  10. गोल्डन (ओडिशा)
  11. राधानगर (अण्डमान एवं निकोबार द्वीप समूह)
  12. पुडुबिद्री (कर्नाटक)

No Comments

Comments are closed.

In light of Pandameic COVID-19, we are offering ONLINE CLASSES for students from 20TH of MARCH onwards. DOWNLOAD NOW
+