पेन्सिल पोर्टल और बाल मजदूरी

पेन्सिल पोर्टल और बाल मजदूरी

क्या है खबर?

केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष गंगवार ने लोकसभा में बताया कि पेन्सिल पोर्टल के तहत् सरकार को बाल मजदूरी की 1010 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें 361 शिकायतों का समाधान कर दिया गया है।

क्या है पेन्सिल पोर्टल?

  • PENCIL (Platform for Effective Enforcement for No Child Labour) एक
    ऑनलाइन पॉर्टल है जिसकी शुरुआत 26 सितम्बर, 2017 से हुई।
  • इसकी शुरुआत NCLP (National Child Labour Project) के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए की गई है।
  • यह पोर्टल बाल मजदूरी के संदर्भ में केन्द्र सरकार, राज्य सरकार, जिलों सिविल सोसायटीज तथा आमजन को एक कॉमन प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराता है।
  • इस पोर्टल के माध्यम से किसी सामान्य व्यक्ति के द्वारा बाल मजदूरी के संदर्भ में शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।
  • शिकायत प्राप्त होने के बाद यह शिकायत संबंधित नॉडल ऑफीसर के पास अपने आप चली जाती है जो शिकायत सही होने की जाँच करते हैं तथा 48 घण्टे के अंदर पुलिस को साथ ले जाकर कार्यवाही करते हैं।

NCLP (National Child Labour Project) Scheme

  • इसकी शुरुआत 1988 में हुई इसका मकसद बाल मजदूरी में फंसे बच्चों को मुक्त कराना तथा उनका पुनर्वास सुनिश्चित करना था।
  • यह सेन्ट्रल सेक्टर स्कीम (100% केन्द्र सरकार द्वारा वित्त पोषित तथा केन्द्र सरकार द्वारा क्रियान्वित) के अन्तर्गत आती है।
  • इसके तहत् खतरनाक उद्योगों में कार्यरत बच्चों की सर्वे के माध्यम से पहचान की जाती है फिर उनहें छुड़ाकर विशेष स्कूल में शिक्षा प्रदान की जाती है ताकि ये बालक मुख्य धारा में आ सके।
  • इन बच्चों के पुनर्वास के लिए जिले स्तर पर पुनर्वास केन्द्र की स्थापना की जाती है जहाँ इन्हें शिक्षा, कौशल, मध्याह्न भोजन, स्वास्थ्य सुविधाएं तथा हर महीने 150 रुपये स्टायपेंड (Stipend) दिया जाता है।
  • 9 से 14 वर्ष के बच्चों को NCLP के पुनर्वास केन्द्र में तथा 5 से 8 वर्ष के बच्चों को सर्व शिक्षा अभियान के तहत् शिक्षा प्रदान की जाती है।
  • अब तक 6000 से ज्यादा पुनर्वास केन्द्र खोले जा चुके हैं तथा इसी का परिणाम है कि 10 लाख से ज्यादा बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा में लाया गया है।
  • यह योजना श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा क्रियान्वित की रही है।

No Comments

Give a comment

In light of Pandameic COVID-19, we are offering ONLINE CLASSES for students from 20TH of MARCH onwards. DOWNLOAD NOW
+