भारतीय अंतरराष्ट्रीय सहकारिता व्याापार मेला (IICTF)-2019

भारतीय अंतरराष्ट्रीय सहकारिता व्याापार मेला (IICTF)-2019

चर्चा में क्यों ?

  • भारतीय अंतरराष्‍ट्रीय सहकारिता व्‍यापार मेला -2019, 11 अक्टूबर को नई दिल्‍ली में शुरू होगा।
  • इस मेले में 150 से ज्‍यादा सहकारी संस्‍थाओं और अमेरिका , इंग्‍लैंड , जर्मनी , चीन ,रूस , स्पेन ,आस्ट्रेलिया तथा जापान समेत 35 देशों के संगठन भाग लेंगे।
  • इस मेले का उद्देश्य भारत और विदेशों में को-ऑपरेटिव-टू-को-ऑपरेटिव व्यापार को बढ़ावा देना है, जिससे ग्रामीण और कृषि समृद्धि में वृद्धि हो सके।

भारतीय अंतर्राष्‍ट्रीय सहकारिता व्‍यापार मेला-2019

  • यह देश में आयोजित होने वाला अपनी तरह का पहला अंतर्राष्‍ट्रीय सहकारिता मेला है। इसका आयोजन  11 अक्टूबर से 13 अक्टूबर तक होगा।
  • इस मेले का आयोजन राष्ट्रीय सहकारिता विकास निगम ने कृषि एवं वाणिज्य मंत्रालय के सहयोग से नाफेड और एपीडा जैसी एजेंसियों के साथ मिलकर किया है।
  • यह भारतीय सहकारी उत्पादों के निर्यात संवर्द्धन का एक प्रमुख मंच होगा।
  • 2022 तक कृषि उत्पादों का निर्यात दोगुना करने के लक्ष्य को हासिल करने में सहकारी क्षेत्र की भूमिका अहम है।
  • इससे देश का कृषि क्षेत्र समृद्ध बनेगा , जिससे सहकारिता के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍टता को बढ़ावा मिलेगा।

भारत मे सहकारिता

  • भारत में सहकारिता के विचार की शुरुआत 19वीं सदी के मध्य में हुई थी।
  • दुर्भिक्ष आयोग और एडवर्ड लॉ समिति की सिफ़ारिशों के बाद मार्च, 1904 में  सहकारी समिति विधेयक लागू किया गया तथा सहकारी समिति कानून, 1912 में बना।
  • सहकारिता देश के विकास और बेरोजगारी की समस्या से निजात पाने मे महत्वपूर्ण योगदान रखती है।
  • भारत में लगभग 94 प्रतिशत किसान कम से कम किसी एक सहकारिता संस्थान के सदस्य हैं।
  • सहकारिता क्षेत्र में कृषि निर्यात को मौजूदा 30 अरब डॉलर से 2022 तक 60 अरब डॉलर तक पहुंचाने की क्षमता है।
  • सार्वजनिक वितरण प्रणाली को बढ़ावा देने तथा उपभोक्ता को उचित मूल्य पर अच्छी वस्तुएं दिलवाने में सहकारी समितियां महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रही हैं।

नाफेड-NAFED

  • NAFED का पूरा नाम भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (National Agricultural Cooperative Marketing Federation of India / NAFED) है।
  • ये भारत की बहु-राज्य सहकारी समिति अधिनियम के अंतर्गत पंजीकृत सहकारी संस्था है , जिसकी स्थापना 2 अक्टूबर, 1958 को हुई थी।
  • नाफेड का प्रमुख उद्देश्य कृषि उत्पादों के सहकारी विपणन को बढ़ाने , उद्यान कृषि एवं वन उत्पाद का विपणन, संसाधन, भण्डारण की व्यवस्था करना एवं अन्य प्रकार के उपकरणों का वितरण करना, अंतरराज्यीय, राज्यांतर्गत, यथास्थिति थोक या खुदरा आयात-निर्यात व्यापार करना है।

एपीडा -APEDA

  • APEDA का पूरा नाम कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (Agricultural and Processed Food Products Export Development Authority) है।
  • एपीडा की स्थापना दिसंबर, 1985  में हुई थी। ये किसानों का प्रमुख हि‍तैषी व सहायक संस्थान है।

Comments ( 4 )

  • Kuldeep Singh

    APEDA SUNMIT 2019 @IMPHAL (manipur) Main hui isme 20 international countries ne participate kiya tha..sir yeh b add krlijiye imp h

  • Manya

    Sir please give these precious news in english too

    • Our team is working on it to provide you best information in hindi and english.

  • Manya

    Sir please give these precious news in english too.

Give a comment