चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019

चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019

चर्चा में क्यों ?

  • 07 अक्टूबर को चिकित्सा ( medicine ) के क्षेत्र में Nobel Prize 2019 की घोषणा की गई।
  • इस वर्ष तीन वैज्ञानिकों को कोशिकाओं में जीवन और ऑक्सीजन को ग्रहण करने की क्षमता में महत्वपूर्ण योगदान के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा।

चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार –

  • चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्ट खोजों के लिए नोबेल फाउंडेशन द्वारा चिकित्सा और शरीर-क्रिया विज्ञान (physiology or medicine) के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार प्रदान किया जाता है।
  • इसकी शुरूआत 1901 में हुई थी , इसका उद्देश्य  प्रायोगिक शरीर विज्ञान में प्रयोगशाला खोजों के माध्यम से वैज्ञानिक प्रगति के लिए सम्मानित करना है।
  • चिकित्सा के क्षेत्र में पहला पुरस्कार जर्मन जीव वैज्ञानिक एमिल वॉन बेह्रिंग (Emil von Behring) को डिफ्थीरिया एंटीटोक्सिन की खोज के लिए 1901 में  मिला था ।
  • चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाली पहली महिला गेर्टी कोरी (Gerty Cori) थी , उन्हें यह पुरस्कार ग्लाइकोजन मेटाबोलिज्म की खोज के लिए 1947 में मिला था।  
  • यह पुरस्कार पाने वाले सबसे कम उम्र के (सबसे युवा) वेज्ञानिक फ्रेडरिक जी. बैटिंग (32 वर्ष ) थे , उन्हें यह पुरस्कार इंसुलिन की खोज के लिए मिला था।
  • चिकित्सा के क्षेत्र में नोबल पाने वाले सबसे उम्रदराज वेज्ञानिक पेटोन राउस (87 वर्ष) थे, उन्हें ट्यूमर इंड्युसिंग वाइरस की खोज के लिए यह पुरस्कार मिला था। 
  • वर्ष 2019 में यह पुरस्कार विलियम कैलेन जूनियर, ग्रीग एल.सेन्जेन (अमेरिकी)और पीटर जे.  रैटक्लिफ (ब्रिटिश) को संयुक्त रूप से  मिला, उन्हें यह पुरस्कार कोशिकाओं में जीवन और ऑक्सीजन को ग्रहण करने की क्षमता में महत्वपूर्ण योगदान के लिए दिया जाएगा।
  • एक मेडिसिन या फिजियोलॉजी नोबेल पुरस्कार विजेता को एक स्वर्ण पदक, एक प्रशस्ति पत्र, एक डिप्लोमा, और एक राशि मिलती है। इन्हें यह पुरस्कार 10 दिसंबर स्टॉकहोम कॉन्सर्ट हॉल में पुरस्कार समारोह के दौरान दिया जाएगा।
  • भारतीय वैज्ञानिक हरगोविंद खुराना को चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 1968 में मिला था , उन्हें यह पुरस्कार ‘प्रोटीन संश्लेषण में आनुवंशिक कोड और इसके कार्य की व्याख्या’ के लिए मिला था।

No Comments

Give a comment